शेयर मार्केट क्रैश होने पर क्या करें?

  आज के ब्लॉग की शुरुआत में कुछ इस तरह से करना चाहूंगा कि  "जो लोग दूसरों से प्रशंसा पाना चाहते हैं उनकी खुशी दूसरों पर निर्भर करती है लेकिन बुद्धिमान की खुशी अपने स्वयं के कामों पर निर्भर करती है"  आज की पोस्ट में हम मार्केट क्रैश क्यों होता है इस पर बात करेंगे और इस बारे में भी बात करेंगे कि अगर मार्केट क्रैश होता है तो हमें क्या करना चाहिए? जब मैं यह पोस्ट लिख रहा हूं इस समय इंडियन स्टॉक मार्केट अपनी अधिकतम मूल्य से लगभग 10 परसेंट नीचे आ गया है मतलब की मार्केट में अच्छी खासी गिरावट हुई है और सेंसेक्स लगभग 55000 पर आ गया है और यह भी कहा नहीं जा सकता कि आगे और गिरावट होगी या नहीं। सच कहा जाए इसका अनुमान लगाना निवेशक के बस में नहीं है तो हमें इस बात से तो बिल्कुल चिंतित ही नहीं होना चाहिए क्योंकि जो चीज हमारे वश से बाहर है उसके बारे मे चिंता कैसी, लेकिन 90% लोगों का चिंता का बिषय ही यही है।  *इस गिरावट में केवल परेशानी उन्हीं लोगों को हो रही है जो उस वक्त मार्केट में दाखिल हुए थे जब मार्केट काफी ऊंचा चल रहा था जो लोग काफी पुराने समय से मार्केट में है उन्हें अच्छी तरह पता है क