Pdai me man kise lage?

 


आज मैं आपको बताने जा रहा हूं कि अगर आपका पढ़ाई में मन नहीं लगता है तो उसके पीछे क्या कारण है और आपको क्या करना चाहिए जिससे कि आपका पढ़ाई में मन लगने लगे.

  ज्यादातर युवा की यही समस्या रहती है की उसका पढ़ाई करने में मन नहीं लगता है और जबरदस्ती अगर पढ़ने बैठता है या फिर पढ़ाई करने में मन लगता भी है तो पढ़ा हुआ याद नहीं रहता और भी ऐसी बहुत सी समस्याएं हैं जो आज के यूथ को आती रहती है या यूं कहें कि हमेशा से यह समस्याएं रही है .

पढ़ाई वास्तव में एक बहुत कठिन काम है यह  एक तपस्या होती है यह वास्तव में कठिन है लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनको पढ़ाई करना ही अच्छा लगता है उन्हें ज्ञानवर्धक किताबें पढ़ना बहुत अच्छा लगता है  खैर हम अपने टॉपिक पर आते हैं .

तो मैं सबसे पहले आपको यह बताने जा रहा हूं कि आपका पढ़ाई करने में मन क्यों नहीं लगता है .

तो आइए शुरू करते हैं :-

  1. लक्ष्य निर्धारित ना होना हर चीज के पीछे एक कारण होता है जो आपको उस काम को करने के लिए मोटिवेट करता है लेकिन पढ़ाई ही एक ऐसी चीज है जिसके पीछे कोई कारण नहीं होता है अक्सर बच्चे पढ़ाई अपने मां-बाप के दबाव में आकर या केवल किसी छोटे से अन्य कारण की वजह से करते हैं जिसकी वजह से पढ़ाई ज्यादा समय तक नहीं कर पाते या एक अच्छी लेवल तक पढ़ाई नहीं कर पाते इसके लिए आपको सबसे पहले लक्ष्य निर्धारित करना होगा कि आपके पढ़ाई करने के पीछे वास्तविक कारण क्या है निश्चिंत रहें कोई ना कोई कारण तो अवश्य होगा क्योंकि पढ़ाई करना हर किसी के लिए जरूरी है बस आपको उस कारण को ढूंढने की जरूरत है। 
  2. मन को डाइवर्ट करना दूसरा कारण है की क्या होता है जब हम लोग पढ़ाई करने वाले होते हैं या हमारा जो समय पढ़ाई करने का होता है उस समय मन में कुछ समय के लिए दूसरे विचार आते हैं कि पढ़ाई नहीं करते हैं या फिर कल से पढ़ाई करेंगे या फिर 10 मिनट बाद पढ़ाई करेंगे और ऐसे विचारों हमारे मन को डायवर्ट कर देते हैं यह विचार कुछ ही समय के लिए आते हैं अगर हम इन विचारों पर कंट्रोल कर ले तो हम वह अवश्य ही पढ़ाई कर पाएंगे लेकिन हम इन विचारों के बहाव में बह जाते हैं और पढ़ाई करना छोड़ कर कोई दूसरा काम करने लगते हैं।
  3.  दोस्तों के साथ टाइम स्पेंड करना दोस्ती एक ऐसी चीज है जिससे ज्यादा मजेदार कोई रिश्ता नहीं होता है हर कोई इंसान दोस्तों के साथ घूमने फिरने गप्पे मारने चाहता है लेकिन आपको इस सब कामों के साथ इस बात को ध्यान रखना चाहिए कि आप दोस्तों की वजह से ज्यादा समय ना बर्बाद करें क्योंकि इस समय आपको बिल्कुल पता नहीं चलता है कि आपने 2 घंटे 4 घंटे कब बर्बाद कर दिए समय बहुत अमूल्य है अगर आप आज समय को बर्बाद करेंगे तो समय आपको कल बर्बाद कर देगा। 
  4. इंटरनेट का अधिक उपयोग यह तो बहुत बड़ी समस्या है आज की जनरेशन की अगर आप सोच रहे हैं कि आप इंटरनेट के माध्यम से पढ़ाई कर लेंगे तो आपकी यह विचार थोड़ा सा गलत है तब तक कि जब तक आपका खुद पर कंट्रोल ना हो अगर आपका खुद पर कंट्रोल नहीं है तो आप इंटरनेट के माध्यम से बिल्कुल पढ़ाई नहीं कर सकते हैं उल्टा आप इंटरनेट के माध्यम से पढ़ाई करने का विचार सिर्फ इसलिए बना रहे हैं क्योंकि आप मोबाइल से दूर नहीं होना चाहते हैं क्योंकि आप मोबाइल के एडिक्टेड हो गए हैं अगर वास्तव में ऐसा है तो कृपया जल्द से जल्द इंटरनेट से दूरी बनाए और मोबाइल से दूरी बनाए और किताबों के माध्यम से पढ़ना शुरू करें वैसे इंटरनेट जानकारी का बहुत अच्छा सोर्स है बशर्तेआप उसका सही यूज़ करें। 
  5. जब आप पढ़ाई करने जा रहे हो तो आप खुद को फ्रेश करने के बाद पढ़ाई करने बैठे कभी-कभी क्या होता है कि हम उस सुबह सोकर उठते हैं और पढ़ाई करने बैठ जाते हैं तो 10 मिनट बाद पढ़ते-पढ़ते दोबारा सो जाते हैं और फिर आंख अगले 3 या 4 घंटे बाद खुलती है उसका यही कारण होता है कि हम उस फ्रेश होकर नहीं बैठते हैं आपकी  नींद दूर नहीं होती है।
  6. जब आप पढ़ाई करने बैठे तो किसी इंटरेस्टेड सब्जेक्ट को लेकर पढ़ाई करने बैठे अगर आप शुरुआत में ही बहुत ही कठिन और बेकार से(आपके हिसाब से वैसे तो सारे बिषय अच्छे हैं) विषय को पढ़ाई करने के लिए लेकर बैठ जाएंगे तो आपको यह काफी बोरिंग लगेगा और आप अपनी पढ़ाई ज्यादा समय तक नहीं कर पाएंगे इसलिए जब आसान विषय से शुरुआत करनी चाहिए।
  7.  अगर आप पढ़ाई बिल्कुल नहीं कर रहे हैं पिछले तीन चार पांच महीनों से और आप और पढ़ाई करने बैठते हैं तो आपका मन दूसरी जगहों पर डायवर्ट होता है आप दूसरी कल्पनाएं करने लगते हैं आपके मन में उलटे सीधे विचार आने लगते हैं तो शुरुआत में जब आप पढ़ाई करने बैठे तो शुरुआती 10 या 15 दिनों तक हर 5 या 10 मिनट बाद आप खुद का इंसुलेशन करें कि आपका माइंड कहीं डायवर्ट तो नहीं हो रहा है अगर आपका माइंड डाइवर्ट हो रहा है तो उसे दोबारा पढ़ाई में लगाएं और जब आप धीरे-धीरे यही प्रोसेस करते रहेंगे तो फिर आप का दिमाग पढ़ाई में लगने लगेगा। 
  8. क्योंकि आपने काफी समय से पढ़ाई नहीं की है और आपकी पढ़ाई करने की आदत पूरी तरह से छूट चुकी है तो आप को शुरू में पढ़ाई करना काफी बोरिंग लग सकता है इसलिए आपको पढ़ाई करते समय अपने स्थान को बदल  देना चाहिए समय-समय पर जगह को को चेंज करते रहना चाहिए इससे आपके पढ़ाई में काफी इफेक्ट देखने को मिलता है। 
  9. अगर आप किसी कंपटीशन की तैयारी कर रहे हैं या आप बोर्ड के एग्जाम देने जा रहे हैं तो आपको लगातार पढ़ाई कई बार करनी पड़ती है तो आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप उस दौरान 20 या 30 मिनट की डेली एक्सरसाइज अपने रूटीन में शामिल करें इससे एक तो आपका शरीर स्वस्थ रहेगा और ऊपर से आप का मन भी जागृत अवस्था में रहेगा क्योंकि किसी ने कहा है स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निवास होता है।
  10. सबसे आखरी में मैं आपको एक बोनस टिप देना चाहूंगा जो है कि अनुशासन आपको सबसे पहले यह सोचना होगा कि आप जो कुछ कर रहे हैं अपने भले के लिए ही कर रहे हैं यह और किसी के लिए नहीं कर रहे हैं तू इस दौरान आपको इन सब छोटी-मोटी समस्याओं से खुद ही निपटना होगा क्योंकि  जिस दिन आप यह समझ जाएंगे उस दिन आप अपने जीवन की किसी भी लक्ष्य को आसानी से अ एचीव कर लेंगे।


No comments:

Powered by Blogger.