कोई भी नशा करना कैसे छोड़े?


नशा करना आज के समाज के लिए एक अभिशाप बन गया है पहले लोग साथ में नशा करते हैं फिर उन्हें पता तक नहीं चलता है कि नशे में कब उन्हें बुरी तरह जकड़ दिया है नशा करने की सबसे बड़ी दिक्कत यह होती है कि इनसे वाज आदमी अपने आप को तो तकलीफ देता ही है साथ ही साथ अपने पूरे परिवार को कष्ट देता है कई स्थितियों में आदमी नशे को जरूरत के अनुसार उपयोग करता है तो आज की पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि अगर आप भी किसी तरह का नशा करते हैं तो आप कैसे उस से बाहर आ सकते हैं और आप किन स्थितियों में नशा करते हैं,

 मतलब की क्या कारण था कि आपने नशा करना शुरू किया था क्योंकि अगर किसी समस्या का कारण पता हो तो उससे आसानी से निपटा जा सकता है तो चलिए शुरू करते हैं ,

            नशा करने का कारण

 नशा करने के कई कारण होते हैं उसमें से कुछ कारण नीचे लिखे हैं ,

  • जब आदमी बहुत ज्यादा टेंशन में होता है तो उसे कुछ लोग सलाह देते हैं या उसके कई दोस्त हैं सलाह देते हैं कि उसे नशा करना चाहिए तो उसे उसकी टेंशन में रिलीफ मिलेगा जिस वजह से वह नशा करना शुरू कर देता है और उसे टेंपरेरी आराम तो मिलता है लेकिन इस आराम की वजह से वह एक गहरे नशे के दलदल में फंस जाता है.
  •  लोगों का मानना है कि नशा करने के बाद खुशी मिलती है वह आदमी अपनी सारी समस्याओं को भूल जाता है लेकिन वह खुशी क्षणिक ही होती है और कई लोग तो खुशी का अनुभव करने के लिए ही नशा करते हैं उन्हें पता भी नहीं होता कि आगे क्या होगा खुशी मिलेगी भी या नहीं और वे इस नशे के शिकंजे में आ जाते हैं।
  •  कई धर्मों में तो रिवाज में होता है कि उन्हें कुछ त्योहारों पर नशा करना होगा या फिर नशा करना ही उनके रिवाज में होता है जिससे कि उनकी पीढ़ी दर पीढ़ी लोग नशा करते ही रहते हैं अपने बड़ों को देखकर लोग नशा करना सीखते हैं।
  •  युवावस्था में व्यक्ति अपनी स्वतंत्रता और अपने शौक को दिखाने के लिए या लोगों के सामने अपने आप को बड़ा महसूस कराने के लिए नशा करता है और उसका मानना होता है कि वह शौक के लिए केवल नशा कर रहा है और वह जब चाहे इसे छोड़ सकता है उसे इसकी लत नहीं पड़ेगी लेकिन धीरे-धीरे उसके शरीर को इसकी जरूरत होने लगती है और वह चाह कर भी इस दलदल से बाहर नहीं निकल पाता है।
 इसीलिए सबसे जरूरी है कि आपको इनमें से कोई भी कारण होने पर कभी नशे का सहारा नहीं लेना चाहिए जय आपकी जिंदगी को बर्बाद कर सकता है ।

                     नशा कैसे छोड़े 

अब आपको नशे की लत पड़ ही गई है तो सवाल यह उठता है कि उसे छुड़ाएं कैसे मैंने नीचे कुछ तरीके बताए हैं आपको अगर उनका पालन करेंगे तो शायद आपको जरूर फायदा महसूस होगा ।

दृढ़ इच्छाशक्ति  सबसे पहले तो आपके पास देख दृढ़ इच्छा शक्ति होनी चाहिए किसी भी काम को करने के लिए यदि आप कोई भी काम आधे अधूरे मन से करना शुरू करते हैं तो आप अपनी मंजिल तक कभी नहीं पहुंच पाएंगे इसलिए अगर आप किसी भी काम को करने का जिम्मा उठाएं तो आपको पूरी दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ उस काम में लगना चाहिए।

 शांति से समझदारी के साथ आप को नशा की लत भी एक दिन में नहीं लगी थी उसी तरह आप उस लत को एक दिन में छोड़ा भी नहीं सकते हैं आपको बिल्कुल भी फिल्मी बनने की जरूरत नहीं है जैसा की फिल्मों में दिखाया जाता है आपको समझदारी के साथ धीरे-धीरे नगर करना कम करना चाहिए और एक स्थिति ऐसी आएगी कि आप नशा करना बिलकुल छोड़ देंगे लेकिन आपको संयम रखना होगा और धैर्य के साथ काम लेना होगा ।

विकल्प बनाये जब आप किसी चीज का विकल्प चुन लेते हैं तो आप पहले वाली चीज से ही आदत से आसानी से बाहर आ जाते हैं इसी तरीके का इस्तेमाल आपको नशा छुड़ाने के लिए भी करना है जब आपको नशा करने का मन करे तो आप उस समय कोई अपना दूसरा प्रिय काम करने लगे जिसे करने में आपको अच्छा लगता हो और आप अपने मन को बांट दें मतलब अपने मन को दूसरी दिशा में लगाएं या फिर आप किसी दूसरी चीज का सेवन उसकी जगह कर सकते हैं और आपको ऐसा कुछ समय के लिए ही करना है क्योंकि थोड़ी समय बाद आपका नशा करने का मन खत्म हो जाएगा और आप वापस से नॉर्मल हो जाएंगे ।

योगा करें आपको नशा छोड़ने के लिए या कोई भी काम में सफलता पाने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि मन पर काबू होना आपका अपने मन पर पूरा काम होना चाहिए तभी आप किसी चीज की लत से बाहर आ सकते हैं जिसके लिए आपका योगा करना बहुत आवश्यक है आप योगा से अपने मन पर नियंत्रण रख पाते हैं आपको प्राणायाम करना चाहिए या इसके अलावा और भी कई तरह के योग होते हैं जो आपको करना चाहिए आप व्यायाम करके भी अपने मन को शांत रख सकते हैं।

 कठिन समय में धीरे-धीरे क्या हुआ कि आप देखेंगे आपकी नशे की लत बहुत कम हो गई है लेकिन खत्म नहीं हुई है आपको कभी कभी वह नशा द्वारा वापस बुलाने की कोशिश करेगा और वही समय होगा जब आपको उससे लड़ना होगा जब कभी आपका किसी दूसरे व्यक्ति को देखकर नशा करने का मन करे या फिर कभी अनायास ही आपका मन करने लगे कि चलो मैंने काफी दिनों से नशा नहीं किया है अब कर लेता हूं फिर आगे से कंट्रोल कर लूंगा तो ऐसी स्थिति में आपको अपने मन को समझाने की बहुत जरूरत है क्योंकि यही वह समय होता है कि जब आप अपने उस पुराने रास्ते पर वापस जा सकते हैं जो इस समय आपको अपने मन पर कड़ा नियंत्रण रखना होगा और धीरे-धीरे आपके मन में यह विचार भी आने कम हो जाएंगे और आप नशे पर विजय प्राप्त कर लेंगे।

मेरे विचार अंत में मैं आपसे यही कहना चाहूंगा कि अगर आप यहां तक मेरी पोस्ट पढ़ते-पढ़ते आ गए हैं तो सीधी सी बात है कि आप वास्तव में नशा छोड़ना चाहते हैं तो देर किस बात की है आज ही दृढ़ निश्चय कीजिए कि आज के बाद कभी नशा नहीं करेंगे और ऐसा आप और किसी के लिए नहीं बल्कि अपने खुद के लिए करेंगे अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए करेंगे क्योंकि दुनिया में सबसे ज्यादा प्यार इंसान अपने आप से ही करता है आप केवल अपने लिए ही नशा छोड़ सकते हैं

No comments:

Powered by Blogger.