10 आदतें जो आपको कभी सफल नहीं होने देंगी


 दोस्तों आदतें ही होती हैं जो किसी आदमी को गरीब बनाती है या फिर उसको अमीर बनाती हैं कोई भी आदमी अपनी किस्मत से गरीब या अमीर नहीं होता यह हमारी आदतें ही होती है जो हमको सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ा देती हैं या फिर दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर कर देती है तो हमें बहुत ही सोच समझ कर किसी भी आदत में फंसना चाहिए या किसी चीज की आदत बनानी चाहिए तो आज की पोस्ट में मैं आपको कुछ ऐसी आदतों के बारे में बताने जा रहा हूं जो आदतें गरीब इंसानों में पाई जाती हैं या फिर यूं कहें कि अगर यह आदतें किसी इंसान में है तो वह चाहे कितना भी अभी रहो धीरे-धीरे गरीब हो जाएगा और दुखी और परेशान भी हो जाएगा,

 आज मैं जिन आदतों के बारे में आपको बताने जा रहा हूं अगर भी आपके अंदर हैं तो आपको उन्हें छोड़ने की बहुत ज्यादा कोशिश करनी चाहिए या फिर आज ही छोड़ देना चाहिए तो चलिए शुरू करते हैं,

  1.  टीवी देखने की आदत गरीब लोगों की एक आदत होती है या फिर हम मध्यम वर्गीय परिवार के लोगों की आदत होती है उन टीवी देखना बहुत पसंद होता है बे टीवी के सामने घंटों बैठ कर अपना समय बर्बाद करते रहते हैं औरतें धारावाहिक को अपना आदर्श बना लेती है और मध्यम वर्गीय परिवार के घर के आदमी राजनीति से संबंधित डिबेट्स में अपना समय बर्बाद करते रहते हैं और घंटों टीवी के सामने बैठे रहते हैं आपने कभी किसी अमीर आदमी को यह कहते नहीं सुना हुआ कि मैं अपनी जानकारी के लिए टीवी देखता हूं अमीर आदमी या फिर अच्छी मानसिकता वाले लोग टीवी बिल्कुल ना के बराबर देखते हैं और टीवी देखने पर आपको वैसे भी बहुत सारी समस्याएं होती हैं वैज्ञानिक शोध में यह साबित हो चुका है कि टीवी देखने वाले लोगों को मोटापा तनाव जैसी समस्याएं रहती हैं और उनका शारीरिक स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहता है साथ-साथ उनको बहुत सारी मानसिक समस्याएं भी होती है इसीलिए हमें टीवी बिल्कुल नहीं देखनी चाहिए और अगर आपको टीवी की बहुत ज्यादा आदत है तो आपको बहुत कम कर देनी चाहिए।
  2. अन हेल्थी खाना खाना गरीब लोगों की यह बहुत गंदी आदत होती है कि वह उल्टा सीधा बहुत अधिक तेल वाला या फिर बहुत अधिक गंदा खाना खा लेते हैं उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि वह कैसा खाना खा रहे हैं उन्हें केवल पेट भरने से मतलब होता है और ज्यादातर गरीब मानसिकता वाले लोगों को ऐसा लगता है कि जो अमीर लोग होते हैं वे बहुत ज्यादा चटपटा खाना खाते हैं और बहुत ज्यादा ऑइली फूड खाते हैं तो वह दिखावे की वजह से और ज्यादा जंक फूड जैसे चाऊमीन बर्गर जैसे घटिया खाने को प्राथमिकता देते हैं और उन लोगों के यहां ऐसा खाना बहुत चाव से खाया जाता है तो अगर आप ऐसा खाना खाते हैं या आपको जंक फूड बहुत ज्यादा अच्छा लगता है आपको उसी आदत पड़ चुकी है तो आपको जल्द से जल्द इस आदत से छुटकारा पाना चाहिए क्योंकि अगर आप सोच रहे होंगे कि अन हेल्थी खाना खाने का अमीरी होने से क्या संबंध है तो आपको बता दूं कि अनहेल्दी खाना खाने से सीधी सी बात है आपका स्वास्थ्य बिगड़ेगा और आप सफलता के रास्तों पर अच्छी तरह से नहीं चल पाएंगे।
  3.  फालतू सामान की खरीदारी करना गरीब लोगों की या फिर मध्यम वर्गीय परिवार के लोगों की एक आदत होती है कि वे जब खरीदारी करते हैं तो भी बेकार के सामान की खरीदारी बहुत ज्यादा कर लेते हैं या फिर भी ऐसी चीजें बहुत ज्यादा खरीद रहते हैं जिनकी उन्हें वास्तव में कोई जरूरत नहीं होती है लेकिन भी दिखावा में आकर उन चीजों को खरीद लेते हैं और उन्हें लगता है कि वह अमीरों जैसी चीजें खरीद कर अमीर बन जाएंगे जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं होता है अमीरों की आदत इसके बिल्कुल विरोधी होती है अमीर लोग केवल उसी चीज में अपना पैसा फंसाते हैं जिन्हें उन्हें जिसकी बहुत ज्यादा जरूरत होती है या फिर उन्हें जिसकी वास्तव में जरूरत होती है बे अपना एक भी रुपया व्यर्थ की चीजों में नहीं कब आते हैं तो अगर आप भी चाहते हैं कि आप अमीर हो जाएं तो आप भी अपना रुपया व्यर्थ में और दिखावे में बर्बाद करना बंद कर दें।
  4. देर से उठने की आदत पता नहीं यह मानसिकता किस ने बना दी है कि बड़े लोग मतलब कि अमीर लोग देर रात तक जागते हैं और सुबह 12:01 या 2:00 बजे तक सोकर उठते हैं ऐसा बिल्कुल नहीं होता है जो लोग वास्तव में अमीर होते हैं मतलब जो लोग खुद से अमीर होते हैं उन्होंने जीवन का हर हिस्सा देखा होता है वे लोग वास्तव में बहुत ज्यादा नियम के पक्के होते हैं उनका कोई भी काम असमय नहीं होता है या फिर गलत समय पर नहीं होता है भी अपने काम के प्रति और अपनी आदतों के प्रति बहुत ज्यादा पंचुअल  होते है बे रात को जल्दी सो जाते हैं और सुबह जल्दी उठते हैं ऐसा करने से उनके शरीर में पूरे दिन इस स्थिति बनी रहती है और वे लोगों की अपेक्षा ज्यादा अच्छी तरह से अपने काम पर ध्यान लगा पाते हैं ।
  5. खेल प्रेमी लोग बहुत से लोगों की आदत होती है उन्हें खेल देखना तो बहुत पसंद होता है मतलब उन्हें टीवी पर या फिर मोबाइल पर लाइव क्रिकेट फुटबॉल या हॉकी का या कुश्ती का मैच देखने में तो बहुत मजा आता है लेकिन उन्हें अगर कोई भी गेम खेलने के लिए कह दिया जाए तो वे घर से बाहर एक भी कदम नहीं रखना चाहते हैं और ना ही घर के अंदर कोई खेल खेलना चाहते हैं उदाहरण के लिए जब आप एक क्रिकेट का 50-50 मैच देखते हैं तो वह लगभग 8 घंटे का होता है मतलब कि आप 8 घंटे टेलीविजन या मोबाइल के सामने बैठे बैठे गुजार देते हैं और जब मैच खत्म हो जाता है तो खिलाड़ियों को तो उनका पुरस्कार मिलता है लेकिन आपको क्या मिलता है घंटा। उल्टा आपका स्वास्थ्य और खराब होता है साथ ही साथ आपको बहुत सारी और भी समस्याएं हो जाती हैं अगर इसकी बजाय आप बाहर जाकर छोटे बच्चों के साथ कम से कम एक घंटा ही खेल लेते तो आपको स्वास्थ्य लाभ होता साथ ही साथ आपके दिमाग की बहुत सारी समस्याएं भी कम हो जाती और आपका तनाव भी बहुत ज्यादा कम होता।
  6.  पैसा ना बचाने की आदत कुछ लोगों की आदत होती है कि उनके हाथ मैं पैसा आता बाद में है खर्च पहले हो जाता है यह लोग बहुत ज्यादा खर्चीला स्वभाव के होते हैं और यह कभी कभी औकात से ज्यादा पैसा खर्च कर देते हैं और फिर इन्हें बहुत सारी आर्थिक समस्याएं आ जाती हैं और इन लोगों की यह समस्या और होती है या फिर यूं कहिए कि इनकी एक और भी गंदी आदत होती है कि इन्हें जैसे ही लगता है कि किसी स्रोत से इनके पास पैसा आने वाला है मतलब कि इन्हें लगता है कि अब थोड़ा बहुत पैसा कहीं से आ जाएगा तो यह लोग उसकी उम्मीद में और ज्यादा पैसा खर्च कर देते हैं मतलब कि यह सोचते हैं कि ठीक है अब तो पैसा ही जाएगा तो इतना सेलिब्रेशन तो बनता है जबकि अमीर लोगों की आदत इसकी उल्टी होती है वे लोग पैसा बचाते तो हैं ही साथ ही साथ पैसे से पैसा भी कमाते हैं लेकिन आप पैसे से पैसा तभी कमा पाएंगे जब आपके पास पैसा होगा आपने पैसा बचा रखा होगा और वह पैसा आपके बुरे वक्त में आपके काम आता है।
  7. दूसरों को गलत ठहराने की आदत कुछ लोगों की एक आदत बहुत गंदी होती है बे कभी अपने आप में गलती नहीं निकालते हैं कभी अपने ऊपर किसी बात का दोष नहीं आने देते हैं वे पूरे दिन या फिर हर वक्त यही सोचते रहते हैं कि जब कभी उनसे कोई गलती हो और लोग उन्हें उस गलती का दोषी ठहराए तो बैक कैसे करके उस गलती से निकले या फिर उस गलती का श्रेय किसी दूसरे के सिर पर कैसे डालें जबकि अच्छे लोगों की आदत यह होती है बे अपनी गलती मानते हैं और अपनी अंदर की कमियों को दूर करते हैं और मैं पूरे दिन या फिर हर समय यही सोचते हैं कि उनके अंदर क्या कमी है और क्या गलती है जिसे भी उजागर करते हैं और दूर करने की कोशिश करते हैं जिससे उनके सफल होने के मौके ज्यादा बढ़ जाते हैं ।
  8. अपनी संगति और अपने विचार ना बदलना जो लोग दुखी परेशान और असफल होते हैं वे लोग जानते हैं कि वे किन कारणों से असफल और परेशान हैं लेकिन वे चाहकर भी अपनी संगति नहीं बदलते हैं अगर आप सफल होना चाहते हैं तो आपको अपनी संगति बदलनी चाहिए मैं यह नहीं कह रहा है कि आप अपने पुराने दोस्तों को छोड़ दें लेकिन आपको कुछ समय ऐसे लोगों के साथ भी बिताना चाहिए जो कुछ ना कुछ कमा रहे हो या फिर उनके जीवन में कोई लक्ष्य हो आपको लक्ष्य ही और नाकारा लोगों के साथ अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहिए यह आपके लिए भविष्य में बहुत ज्यादा घातक सिद्ध हो सकता है आपको यह आदत तुरंत बदल देनी चाहिए आपको हमेशा ऐसा काम करना चाहिए यह करने में आपको आनंद आए और आप व्यस्त भी रहे।
  9. केवल योजनाएं बनाना काम ना करना हमारी आदत होती है कि अगर हमसे कोई सलाह मांग नहीं आता है तो हम उसे 50 सलाहें दे देते हैं लेकिन जब बारी आती है खुद के ऊपर काम करने की तो हम कोई ना कोई बहाना बना कर मुकर जाते हैं और कई बार तो हमारे पास बहुत सारे प्लान होते हैं कोई ना कोई काम करने के लेकिन हम हर किसी प्लान में कोई ना कोई कमी निकाल लेते हैं और सोचते हैं कि अगर यह कमी ना होती तो आज हम भी अमीर होते या फिर आज हम भी सफल इंसान होते इसके बावजूद सफल इंसान बिल्कुल इसी के विरोधी होते हैं उनके मन में जैसे ही कोई प्लान आता है तो उस पर तुरंत काम करने के लिए निकल पड़ते हैं और तुरंत उस एग्जीक्यूट करते हैं जिसके कारण या तो उन्हें उसमें सफलता मिलती है या फिर उन्हें अनुभव मिलता है लेकिन असफल आदमी इन दोनों चीजों से ही अनभिज्ञ दूर रहता है क्योंकि वह कभी काम करता ही नहीं है वह केवल ख्याली पुलाव पकता रहता है और लोगों को मुफ्त की सलाह देता रहता है ऐसे लोगों को बेरोजगार और कामचोर भी कहा जाता है और वास्तव में इस नाम के हकदार भी होते हैं।
  10.  रिस्क ना लेने की आदत कमजोर लोगों की और असफल लोगों की एक आदत और होती है कि उन्हें रिस्क लेने से बहुत डर लगता है और उन्हें लगता है कि जब उनकी जिंदगी ठीक ठाक चल ही रही है तो उन्हें रिस्क लेने की क्या जरूरत है लेकिन अगर थोड़ा ध्यान से सोचा जाए तो आप रिस्क ना लेकर बहुत बड़ी रिस्क लेते हैं क्योंकि आपको इस बात का पता भविष्य में चलता है कि हमने उस समय थोड़ी सी रिस्क ले ली होती तो आज जिंदगी कुछ और ही होती और इस तरह आम जिंदगी के ठोकरें खाते रहते हैं जिंदगी आपको इधर से उधर धक्के देती रहती है लेकिन मेरा यहां पर मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आपको जानकारी का अभाव हो और आपको आंखें बंद करके रिस्क लेने ऐसी स्थिति में आपको नुकसान के सिवाय और कुछ नहीं मिलेगा आपको पहले पूरी जानकारी लेनी चाहिए और फिर रिस्क लेने से बिल्कुल नहीं डरना चाहिए।

2 comments:

Powered by Blogger.