बस यह करो सफलता आपके कदम चूमेगी



सफल होना कोई बड़ी बात नहीं है जीवन के हर क्षेत्र में सफल होते रहना बड़ी बात है अगर आप को धोखे से या किसी अन्य कारण से सफलता मिल जाती है ना ही उसके पीछे का राज आपको नहीं पता है कि आप के किन कारणों की वजह से आपको सफलता मिली है तो वह सफलता आपकी ज्यादा समय तक नहीं चलती है और ज्यादातर लोगों के साथ ऐसा ही होता है कि उनको अनजाने में सफलता मिल जाती है अगर आपकी सफलता के पीछे आपके पूर्ण प्रयास नहीं है और आपको सफलता समय से पहले मिल गई है तो यह बहुत ज्यादा समय तक टिकने वाली नहीं है अगर आप वास्तव में सफल होना चाहते हैं तो सबसे पहले तो आपको सफल होने के बारे में सोचना ही नहीं चाहिए आपको अपने क्रियाकलापों का ध्यान देना चाहिए आपको अपने काम करने के तरीके को सुधारना चाहिए और अगर आप सही ढंग से काम करते हैं तो आपकी जिंदगी में हमेशा खुशियां बनी रहेंगी और हमेशा शांति रहेगी क्योंकि सफलता इतनी ज्यादा जरूरी नहीं होती है जितनी ज्यादा जरूरी जिंदगी जीना होता है अगर आपको सफलता चाहे कितनी भी मिल जाए लेकिन आपकी जिंदगी में शांति नहीं है और खुशियां नहीं है तो जिंदगी नरक हो जाती है और जो केवल सही तरीके से काम करने से ही आती है,

 तो आज की पोस्ट ऐसी चीज पर आधारित है आज की पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि आपको जिंदगी में ऐसे कौन से पांच तरीके हैं जो अपनाने हैं और उनका पूरी जिंदगी भर पालन करना है अगर आप यह पांच का पूरी जिंदगी भर करते हैं तो यकीन मानिए आपको जिंदगी में कभी भी दुखी नहीं होना पड़ेगा और सफलता तो बहुत छोटी चीज है अगर आप इन 5 नियमों पर हमेशा डटे रहेंगे तो सफल होने से आपको कोई भी नहीं रोक सकता है तो चलिए शुरू करते हैं,

 1.कठिन परिश्रम करना आपके सिद्धि का लक्ष्य कोई भी हो चाहे आप किसी भी क्षेत्र में मेहनत कर रहे हो किसी भी क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते हो हर क्षेत्र में आपको कठिन परिश्रम तो करना ही पड़ेगा कठिन परिश्रम ही सफलता की कुंजी होती है और न केवल कठिन परिश्रम से सफलता हासिल होती है बल्कि कठिन परिश्रम से आपको आत्म संतुष्टि भी मिलती है जिससे जो खुशी मिलती है उसके साथ जिंदगी जीने का मजा ही अलग होता है जो लोग अपनी जिंदगी में मेहनत नहीं करते हैं उन्हें जिंदगी में हमेशा कुछ न कुछ अधूरापन सा लगा रहता है वह कभी भी जिंदगी को पूरी तरह से मजा लेकर नहीं जीते हैं कहीं ना कहीं आपको लग रहा होगा कि मेहनत करने में कौन सा मजा अरे मेहनत का जो नशा होता है उसके आगे तो सारे नशे फी के होते हैं तो आपको सबसे पहले तो अपने कार्य का चुनाव करना चाहिए और फिर उसमें जी लगाकर मेहनत करनी चाहिए आपको कभी मेहनत करने से पीछे नहीं हटना चाहिए अगर आप ऐसा करेंगे तो आपको कभी निराश नहीं होना पड़ेगा और ना ही कभी आपके जिंदगी में परेशानियां आएंगे ।

2.अनुशासन होना किसी भी काम को लगातार लंबे समय तक करने के लिए अनुशासन बहुत ज्यादा जरूरी होता है अगर आप कोई काम की शुरुआत करते हैं और उस काम में बिल्कुल भी अनुशासन नहीं है तो आप उस काम को लंबे समय तक जारी नहीं रख सकते हैं और अगर आप किसी काम को सतत रूप से लंबे समय तक नहीं कर सकते हैं तो आपको उसका में कभी सफलता नहीं मिलेगी तो सीधे-सीधे शब्दों में कहें तो सफल होने के लिए अनुशासित होना बहुत जरूरी है इसके पीछे मनोवैज्ञानिक यह कहते हैं कि आप जब किसी काम की शुरुआत करते हैं तो आप उस काम को करने के लिए पूर्ण रूप से मोटिवेट होते हैं और आप उस काम में अपनी जी जान लगा देने के लिए तैयार होते हैं लेकिन कुछ समय बाद क्या होता है कि आपका भी मोटिवेशन धीरे-धीरे कमजोर पड़ने लगता है तो उस समय आप को अनुशासन की बहुत ज्यादा जरूरत होती है और अनुशासन ही उस समय आपकी सहायता कर सकता है क्योंकि मोटिवेशन खत्म होने पर आप उस काम को वहीं पर रोक सकते हैं लेकिन अगर आपने अनुशासित रहने की आदत भी विकसित कर ली है तो आप उस काम को लंबे समय तक आगे ले जाएंगे  अनुशासित होने में शुरुआत में तो बहुत से बंदी से लगती है ऐसा लगता है कि आपको दूसरों के अनुसार काम करना पड़ रहा है या फिर और भी बहुत सी समस्याएं आती हैं लेकिन जब एक बार आप अनुशासित हो जाते हैं तो आपकी एक अलग ही पहचान हो जाती है आप उन लोगों में बिल्कुल अलग दिखने लगते हैं और आपका लोगों के प्रति नजरिया ही बदल जाता है इसीलिए किसी भी काम को करने से पहले हमें मन में यह पूर्ण रूप से विचार कर लेना चाहिए कि अगर मैं इस काम की शुरुआत कर रहा हूं तो फिर उसे इसके परिणाम तक पहुंचाकर ही दम लूंगा और नित्य सतत रूप से की गई मेहनत ही रंग लाती है परिणाम 1 दिन में नहीं बनते हैं लेकिन एक दिन जरूर बनते हैं इस तरह के विचार मन में रखकर आपको सदैव अपने रास्ते पर चलते रहना चाहिए।

3. खुद पर भरोसा होना किसी कवि ने क्या खूब कहा है-  


"सफलता उन्हीं को कोोो मिलती है जिनके कदमों में जान होती है पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है"  -मतलब कहने का यह है कि हमें अपने आप को कभी कमजोर नहीं समझना चाहिए कोई भी इंसान तब तक दुनिया से नहीं हार सकता है जब तक वह अपने आप से नहीं हार जाता अगर आप अपने आप से हार गए तो फिर दुनिया में आपको कोई जीता नहीं सकता है आपकी ताकतवर होने की पहचान यह बिल्कुल नहीं है कि आप सारी रूप प से शक्तिशाली है या नहीं या फिर आप दिमाग से कितने तेज हैं इसलिए आपको यह बात बिल्कुल अपने दिमाग से निकाल देनी चाहिए कि आप यह काम नहीं कर सकते आप कोई भी काम कर सकते हैं बस आपको खुद पर भरोसा होना चाहिए और लगातार सतत अभ्यास से आप किसी भी क्षेत्र में पारंगत हो सकते हैं कहते हैं कि अगर आप किसी भी युद्ध को लड़ते हैं तो उस युद्ध की शुरुआत से पहले आपके मन में एक युद्ध चल रहा होता है अगर आप उस युद्ध में जीत जाते हैं तो फिर आप उसे दूसरे जो बाहर युद्ध चल रहा है उसको स्वता ही जीत जाते हैं बस आपको अब उसे दूसरों को दिखाने के लिए लड़ना होता है मतलब कि अगर आप अपने आप से जीत जाते हैं तो फिर दुनिया में आप बहुत आसानी से अपना परचम लहरा सकते हैं और दुनिया में कोई भी इंसान आपको नहीं हरा सक ता ।

4.जुनून होना चाहिए जिंदगी का चाहे कोई भी क्षेत्र हो सफल वही इंसान हो सकता है जिसमें अपने काम के लिए पागलपन होता है कहते भी हैं कि इतिहास तो पागल ही रचते हैं समझदार लोग उसे देखते हैं और केवल देखते ही हैं इसीलिए अगर आप वास्तव में अपनी जिंदगी में कुछ भी करना चाहते हैं तो आपको पागलपन लाना होगा जिन लानी होगी उसके बिना कुछ भी नहीं हो सकता है क्योंकि जिंदगी में कुछ बहुत बड़ा करने के लिए आपको बार-बार हजारों बार असफलता का मुंह देखना होगा जिस स्थिति में आदमी बुरी तरह से टूट जाता है और आगे बढ़ने के लिए बिल्कुल भी सक्षम नहीं रहता है आपको उस स्थिति में भी दोबारा उठना होगा और अपने लक्ष्य के लिए केवल अपने लक्ष्य के लिए आगे बढ़ना होगा और जब तक कि आप उसे पा नहीं लेते हैं आपको अपने मार्ग से नहीं हटना होगा मैं आपको एक उदाहरण से समझाता हूं एक बिजनेसमैन ने अपनी सारी कंपनियों को बेचकर 1000 करोड़ रुपए कमाई और फिर उन सारे रुपयों को अलग-अलग व्यापारियों में डाल दिया और खुद किराए पर रहने लगा अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसा तो कोई पागल व्यक्ति ही कर सकता है क्योंकि अगर कोई साधारण आदमी होता तो सबसे पहले उन पैसों से अपने लिए गाड़ी खरीद था अपने लिए बढ़िया मकान बनवा ता अच्छे कपड़े पहनता तो मैं बता दूं यह पागल इंसान और कोई नहीं दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलोन मस्क हैं जो आज के समय में टेस्ला जोकि इलेक्ट्रिक कार्स बनाती है जैसी बड़ी कंपनी के मालिक हैं एलोन मस्क ने अपनी जिंदगी में कई बार पागलपन का परिचय दिया है जिसकी बदौलत ही वह आज इतने बड़े मुकाम पर बैठे हैं ।

5.सब्र होना चाहिए मैंने ऊपर जितने भी तरीके बताए हैं जितनी भी क्वालिटीज बताए हैं वे ज्यादातर लोगों के अंदर देखने को नहीं मिलती हैं लेकिन अगर आप यह सारी क्वालिटीज भी अपने अंदर विकसित कर लेते हैं तो भी आप सफलता तक नहीं पहुंच सकते हैं क्योंकि आज के युवा में सबसे अधिक कमी अगर किसी चीज की है तो वह है धैर्य इंसान बिल्कुल भी धैर्य रखना नहीं चाहता है वह चाहता है कि उसे कोई भी चीज तुरंत हासिल हो जाए वह कर्म करें और उसे उसका फल मिल जाए जो कि बिल्कुल भी गलत चीज होती है आपको अपने काम पर अधिकार रखना चाहिए उस के बल पर बिल्कुल भी अधिकार नहीं रखना चाहिए और अगर आप ऐसा करते हैं तभी आपके अंदर धैर्य आ सकता है आपको अपने काम करने के तरीके को ही इंजॉय करना चाहिए आपको कभी फल से बिल्कुल भी आसान नहीं रखनी चाहिए क्योंकि फल कैसा भी हो सकता है और फल आपके हाथ में नहीं होता है और अगर आप सोच रहे होंगे कि आप फल मिलने के बाद जिंदगी को इजॉय करना शुरू करेंगे तो मेरे भाई यह बहुत बड़ी भूल है अब जिंदगी को कभी इंजॉय तो नहीं कर पाएंगे और साथ ही साथ में आपको कभी उसका बढ़िया फल नहीं मिलेगा साथ ही आपको बहुत बुरी तरह से हार मिलेगी इसलिए आपको केवल अपने काम पर ध्यान देना चाहिए धन्यवाद

No comments:

Powered by Blogger.