Emotionally mature होने की 19 निशानियां



इमोशनली मैच्योर होने का मतलब होता है भावनात्मक रूप से परिपक्व  हो जाना हर इंसान अपने जीवन के अनुभवों से कुछ ना कुछ सीखता रहता है और हमेशा आगे बढ़ता रहता है क्योंकि आगे बढ़ने का नाम ही जिंदगी होता है तो आज की पोस्ट में मैं आपको यही बताने जा रहा हूं आज मैं आपको बताऊंगा कि क्या आप भावनात्मक रूप से मजबूत हो तो मैं आपको 19 ऐसी निशानियां बताने जा रहा हूं जिनसे आप खुद की इमोशनली मैच्योरिटी को जांच सकते हो और पता कर सकते हो कि आप कितने मैचुअर हो, तो कृपया कमेंट करके बताएं कि 19 पॉइंट्स में से आपको कितने पॉइंट्स मिलते हैं मतलब आप में कितने गुण हैं तो चलिए शुरू करते हैं,

1. हमेशा पर्सनल ग्रोथ करते रहते हैं जैसा कि मैंने आपको बताया है कि आगे बढ़ते रहने का नाम ही जिंदगी है तो जो लोग मैचुअर होते हैं उन लोगों को पता होता है कि सीखने का नाम ही जिंदगी है तो वे लगातार जिंदगी में कुछ ना कुछ सीखते रहते हैं सीखने के तरीके 3 तरह के होते हैं मतलब आप जिंदगी में अगर तीन चीजों में लगातार उन्नति करते रहते हो तो आप जिंदगी भर एक अच्छे खासे सफल इंसान के रूप में रह सकते हो,

. आप अपने फिजिकल हेल्थ को ग्रो करते हो ।

.मेंटल हेल्थ पर वर्क करते हो और 

.इमोशनली भी हेल्दी रहते हो।

2.अपने और दूसरों के बीच एक पर्सनल बाउंड्री बना कर रखी होती है बचपन में आपने भी देखा होगा कि लोग आपसे हर तरह की बातें करते हैं और आपका कभी-कभी मजाक भी उड़ा देते हैं लेकिन आप कभी समझ नहीं पाते हैं कि इन लोगों के साथ कैसे डील करें और बहुत सी समस्याएं होती हैं जिनका कभी हमको जवाब नहीं मिलता है लेकिन जो लोग मेंटली मैचुअर हो जाते हैं वे अपनी जिंदगी में कुछ नियम कानून बना लेते हैं जैसे उनको पता होता है कि किसी इंसान से कितने समय तक बात करना है और सीबी इंसान को अपने बारे में कितना बताना है यह लोग जितना चाहते हैं सामने वाला उन्हें उतना ही जानता है उनकी मर्जी के बगैर सामने वाला व्यक्ति इन के बारे में कुछ नहीं जान सकता है।

3. अपनी गलतियां मानते हैं सफलता की राह पर आगे बढ़ने की सबसे पहली और शुरुआती सीढ़ी यही होती है कि हमें अपनी गलतियों को स्वीकार करना होगा हमें मानना होगा कि हमें सब कुछ नहीं आता है और हम लगातार सीख रहे हैं जिस इंसान में यह गुण आ जाता है वह बहुत तेजी से सफल होने की राह में आगे बढ़ जाता है ज्यादातर लोगों की सबसे बड़ी कमजोरी यही होती है कि वह अपनी गलतियों को दूसरों के सिरों पर मढ़ते रहते हैं लेकिन कभी अपने ऊपर गलती नहीं आने देते हैं और वे इसे बहुत बड़ी अपने अंदर की खूबी भी मानते हैं लेकिन आपको यह जानकर अब तो होगा कि अगर आपके अंदर भी यह अवगुण है तो आप बहुत बड़े संकट में हैं आपको इससे बहुत जल्द दूर होना पड़ेगा अगर आपस में सफल होना चाहते हैं ।

4.सोच समझकर बोलना ज्यादातर लोगों का अपनी भावनाओं पर कोई काबू नहीं होता है जरा सा कोई इंसान उनसे कोई बात कहता है और वह एकदम से बोलने लगते हैं या फिर प्रतिक्या कर देते हैं लेकिन महान लोगों का यह एक खास गुण होता है वह केवल वही बोलते हैं जो भी बोलना चाहते हैं या फिर जो उन्हें अपने अनुसार सही लगता है बे दूसरे लोगों के अनुसार कभी प्रतिक्रिया नहीं देते हैं  और सारे काम उनकी खुद की इच्छाओं से होते हैं चाहे कोई व्यक्ति उनसे कितने भी गलत भाषा में बात कर ले लेकिन वे उसकी बात का बहुत ही सोच समझ कर जवाब देते हैं और ऐसा जवाब देते हैं कि वह हमेशा याद रखता है और कई बार तो वे जवाब देने के लिए काफी समय का इंतजार करते हैं और सब सही समय आने पर जवाब देते हैं यह एक मैचुअर आदमी की निशानी है।

5. समय को सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण मानते हैं ऐसा कहा भी जाता है कि समय ही धन है अगर आपका पैसा खत्म होता है तो आप उसे दोबारा भी कमा सकते हो और इतिहास में ऐसे बहुत से अमीर लोग हुए हैं जिन्होंने अपनी पूरी संपत्ति गवा दी और बाद में उसे पूरा वापस भी पा लिया लेकिन अगर आप अपना समय बर्बाद करते हो तो आप कभी सफल नहीं हो सकते और आप एक ना एक दिन धीरे-धीरे करके खुद पूरी तरह से बर्बाद हो जाओगे और यह चीज आपको प्रतिदिन हर पल हर समय अनुभव होती रहती है कि आप अपना समय बर्बाद कर रहे हो महान लोग मौत को अपना अकाउंट डाउन समझ कर चलते हैं उनका मानना होता है कि मौत तक का ही उनके पास वक्त है और मौत का भी कोई भरोसा नहीं है कभी भी आ सकती है अगर आप इस तरह की सोच रख कर कोई भी काम करोगे तो आप पहले की अपेक्षा तेजी से और बहुत ज्यादा प्रोडक्टिव तरीके से काम कर सकोगे ।

6.अकेले रहने में कोई समस्या नहीं होती है बचपन में अक्सर हम सभी लोगों को एक समस्या होती है कि हमें अकेले रहना बिलकुल पसंद नहीं होता है और साथ ही साथ हमें अकेले रहने में बहुत सारी समस्याएं भी आती है जैसे हमें अकेले में डर लगता है या फिर उदास रहते हैं या फिर बोरियत फील होती है लेकिन जैसे-जैसे हम मैचुअर होते जाते हैं हमें अकेले रहने के फायदों के बारे में पता चलता रहता है और हम ऐसे ही मौके ढूंढते रहते हैं ध्यान रखिए  मैं ने यहां पर बोला है कि जैसे-जैसे हम मैचुअल होते हैं मैंने यहां पर यह नहीं बोला है कि जैसे जैसे हम बड़े होते हैं बड़े होने में और मैचुअल होने में जमीन आसमान का फर्क होता है

7. अपनी बुराइयां भी आसानी से सुन सकते हैं महान लोगों का यह मानना होता है कि बुराइयां या फिर बदनामी कुछ भी कह लीजिए यह सफलता के मार्ग का एक पड़ाव है और यह सफलता के रास्ते का एक बहुत बड़ा ही हिस्सा भी है सफल होने के दौरान आपको इससे गुजरना होता है और इससे आपको बहुत ज्यादा सीख भी मिलती है तो वे लोग अपनी बुराइयां बहुत आसानी से सुनते हैं और उन सुनी हुई बातों पर चिंतन और मनन करते हैं जो बातें उन्हें अपने काम की लगती हैं उन्हें वे बहुत ही आसानी से निकाल लेते हैं और बाकी बातों को कचरे की तरह फेंक देते हैं इस तरह से उन में लगातार सुधार की प्रक्रिया जारी रहती है लेकिन भी किसी बात को एकदम दिल से नहीं लगाते हैं।

8. लोगों को समझना शुरू हो जाता है लोगों का मानना होता है कि कोई भी इंसान अच्छा या बुरा नहीं होता है सारे इंसान बिल्कुल पानी की तरह उदासीन होते हैं कि अगर उसमें आप कीचड़ मिला दोगे तो वह गंदा हो जाएगा और अगर आप उसमें चीनी और नींबू बगैरा मिला दोगे तो शायद वही शिकंजी बन जाएगा उसी तरह से इंसान भी होते हैं कोई भी इंसान अच्छा या बुरा बन जाता है उसके हालात उसे बना देते हैं या फिर उसके बचपन की परवरिश उसकी अच्छाई या बुराई का निर्णय करती है और जरूरी नहीं है कि आपका नजरिया हमेशा सही हो क्योंकि लोग अपने नजरिए के हिसाब से ही इंसान को अच्छा या बुरा तय करते हैं हो सकता है कि आप जिस नजरिए से देख रहे हो इंसान आपके लिए बहुत बुरा हो और लेकिन वास्तव में वह आपके लिए फायदेमंद ही हो या आपके लिए कुछ अच्छा करने की ही कोशिश कर रहा हु इसलिए हमेशा आपको अपना नजरिया बड़ा करते रहना चाहिए और महान लोगों की यही खासियत होती है कि वे हमेशा अपने नजरिए से नहीं सोचते हैं वह दूसरों के नजरिए से भी सोचते और समझते हैं।

9. धैर्यवान होते हैं आज के समय में सफलता की चाहत रखने वाले लोगों में धैर्य की बहुत बड़ी कमी देखी गई है वे लोग कोई भी काम करते हैं तो सबसे पहले तो भी काम करने का निर्णय ही नहीं ले पाते हैं उन्हें यही नहीं पता होता है कि कौन सा काम उनके लिए सही है क्योंकि हर एक इंसान किसी ने किसी विशेष काम के लिए बनाया जाता है तो ऐसे ही किसी के भी बहकावे में आकर कोई भी काम करने लगते हैं और फिर कुछ समय बाद भी उस काम को छोड़ देते हैं और दूसरे काम में पड़ जाते हैं इसी तरह जिंदगी भर दर-दर इधर-उधर भटकते रहते हैं लेकिन जो लोग महान होते हैं वे अपना आत्म निरीक्षण करते हैं और बहुत सावधानी पूर्वक अपना काम चुनते हैं और फिर उस पर अपना 100% प्रयास डालते हैं और बार-बार असफल होने के बावजूद भी अपने काम को नहीं छोड़ते हैं और धैर्य रखते हैं क्योंकि उन्हें पूरा भरोसा होता है ।

10.स्वास्थ्य की परवाह करते हैं जैसे जैसे आदमी मैचुअर होता चला जाता है उसे अपनी सारी चीजों की महत्व के बारे में पता चलता रहता है उसे  अच्छी तरह से पता होता है एक कि अगर वह अपने शरीर को पूर्ण रूप से स्वस्थ नहीं रखता है तो वह सफलता के मार्ग में काफी दूरी तक आगे नहीं बढ़ सकता है इसी तरह अगर वह अपने मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान नहीं रखता है या भावनात्मक रूप से भी मजबूत नहीं बनता है तो भी वह सफलता की राह में काफी आगे तक नहीं जा सकता है क्योंकि वह अच्छी तरह जानता है कि प्रकृति ने उसे यह तीन उपकरण दिए हैं जिनके सहायता से वह अपनी जिंदगी को सफल बना सकता है और उस का आनंद उठा सकता है तो इन उपकरणों का पूरी तरह से उपयोग करने के लिए इन्हें एकदम से स्वस्थ भी रखना पड़ता है जैसे अगर आपके पास कोई कार है और आप उसका इस्तेमाल करते हैं तो आपको उसकी समय-समय पर सर्विस भी करनी होती है यह बिल्कुल वैसा ही होता है।

11.जिम्मेदारियों से दूर नहीं भागते हैं सफल लोगों का मानना होता है कि आप अपने ऊपर जितनी जिम्मेदारियां लेंगे आप इतने ज्यादा अनुभव युक्त होते चले जाएंगे और सफल होते चले जाएंगे आपको कभी अपनी जिम्मेदारियों से दूर नहीं भागना चाहिए यह कायरों की निशानी होती है हां यह बात एक अलग है कि आपको बहुत ही सोच समझ गए किसी चीज की जिम्मेदारी लेनी चाहिए लेकिन जैसे-जैसे आप जिम्मेदारी लेते जाएंगे और उन्हें उठाते जाएंगे आप में आत्मविश्वास बढ़ता जाएगा और आप लगातार सफल होते चले जाएंगे।

12.बिल्कुल फर्क नहीं पड़ता कि दूसरे क्या कहते हैं लोगों और समाज को यह लोग बहुत अच्छी तरह समझ चुके होते हैं क्योंकि यह उन्हें बहुत समय से बर्दाश्त करते आ रहे होते हैं तो उन्हें अच्छी तरह से पता चल जाता है कि लोगों का क्या लोग तो कहेंगे ही अगर आप लोगों की बातें सुनने लगे तो फिर आप कभी सफल नहीं हो सकते आप चाहे कितने भी अच्छे क्यों ना हो जाएं लोग हमेशा आपकी बुराइयां तो करेंगे ही और साथ ही साथ आपकी तारीफ करने वाले भी बहुत से लोग होंगे तो आपको लोगों की अनुसार प्रतिक्रिया करने की बजाए अपने खुद के दिमाग से सोच समझकर किसी भी काम में प्रतिक्रिया करनी चाहिए ऐसा सफल लोगों का मानना होता है।

13.मुश्किल हालातों में भी एक दम शांत रहते हैं सफल लोगों की पहचान होती है कि चाहे वे कितने भी दुख से गुजर रहे हो चाहे उन्हें कितनी भी समस्याओं ने घेर रखा है बे कभी भी अपना अपने ऊपर से नियंत्रण नहीं  खोते हैं उन्हें अपने ऊपर पूर्ण रूप से भरोसा होता है क्योंकि वह बहुत बार ऐसी कई समस्याओं से गुजर चुके होते हैं और उन्हें पता होता है कि यह समस्या आज है कल नहीं रहेगी लेकिन अगर वह विचलित हो जाएंगे और इस समस्या के समाधान की वजह समस्या में ही उलझ कर रह जाएंगे तो वह समस्या को कम तो नहीं कर पाएंगे उसे बड़ा और लेंगे तो वे उस समय में अपना आत्म नियंत्रण बिल्कुल नहीं होते हैं लेकिन हल्के और कमजोर लोगों की यह विशेषता होती है कि वह जरा सी समस्या आने पर ,जिंदगी में जरा सी तकलीफ आने पर एकदम से झुलस जाते हैं और इधर उधर सहायता के लिए रोने चिल्लाने लगते हैं भगवान को भी कोसने लगते हैं कई बार तो लोग भगवान को भी कोसते हैं ।

14.आप उन लोगों को भी माफ कर देते हैं जिन्होंने आपका दिल दुखाया है मैचुअल होने की एक बड़ी निशानी है भी है कि आप उन लोगों को भी माफ कर देते हैं जिन्होंने आपके साथ कभी बुरा किया है हालांकि आपको भी अंदर ही अंदर ऐसा लग रहा होता है की अरे मैं यह क्या कर रहा हूं मैं उसे कैसे माफ कर सकता हूं लेकिन आप यह चीज अच्छी तरह से समझ चुके होते हैं कि अगर मैं उसे माफ नहीं करता हूं और उसी बात में ही लगा रहता हूं तो मैं कभी आगे नहीं बढ़ सकता उल्टा मैं अपने आप को ही लगातार तकलीफ पहुंचाता हूं क्योंकि आप जब जब उस व्यक्ति के बारे में सोचते हैं तो आप उस व्यक्ति का तो कुछ नहीं बिगाड़ सकते हैं लेकिन उस समय में आप अपने आप को बहुत सारा नुकसान पहुंचा लेते हैं तो यह सब सोच समझकर आप उस उन लोगों को माफ कर देते हैं जिन्होंने आप को कभी तकलीफ पहुंचाई है और आप उस समय को एक ही समझ कर आगे बढ़ जाते हैं उससे कुछ ना कुछ अच्छी सीख लेते हैं।

15. हंसी मजाक करते हैं महान लोगों की एक खास आदत होती है कि वे केवल इस वजह से महान नहीं होते हैं कि वे हमेशा हर वक्त शांत रहते हैं सीरियस रहते हैं और गंभीर मुद्रा में बने रहते हैं ऐसा बिल्कुल नहीं होता है एक महान व्यक्ति की यह पहचान होती है कि वह जिंदगी को बहुत अच्छी तरह से आनंद लेकर जीता है वह हमेशा हंसी मजाक भी करता है और उसके पास गज़ब का सेंस ऑफ ह्यूमर होता है बल्कि वह लोग तो ऐसे समय में भी हंसी मजाक करते हैं जब वे पूरी तरह से टूटे हुए होते हैं या फिर पैसे के मामले में बिल्कुल कंगाल हो गए होते हैं क्योंकि उनको पता होता है कि यह सब चीज तो आज है कल नहीं रहेगी और परसों फिर आ जाएगी इसकी वजह से अपने अंदर की शांति को भंग करना तो महा मूर्खता है।

16. बचपन के ट्रामा को हील करना हम सब मैं से ज्यादातर लोगों के साथ ऐसा हुआ होगा कि उनकी बचपन की कोई एक बहुत ही या फिर कुछ बहुत सी खराब यादें होती हैं या फिर कोई भी ऐसा समय होता है जो उनके जहन पर बुरी तरह से छाया हुआ होता है जिसकी वजह से वे जब भी उस समय को याद करते हैं तो पूरी तरह से डर जाते हैं या फिर आतंकित हो जाते हैं लेकिन मैच्योर होने की निशानी होती है कि आप धीरे-धीरे उस ट्रामा को हील करते हैं और बचपन की पुरानी डरावनी यादों को धीरे-धीरे से खत्म करते हैं और उसे एक बुरा वक्त समझ कर आगे निकल जाते हैं।

17. ये लोग बोलते कम है और सुनते ज्यादा है ऐसे लोग जो लोग मैच्योर होते हैं और अनुभव युक्त होते हैं उन लोगों को पता होता है कि बोलने के दौरान वे सिर्फ ऐसी बात ही बोलेंगे जो उन्हें पहले से पता है और दूसरे लोगों को उसका फायदा देंगे लेकिन सुनने के दौरान वे कोई नई बात सीख सकते हैं उसका फायदा उठा सकते हैं और साथ ही साथ कम बोलने के दौरान भी अपने दिमाग में कुछ सोच भी सकते हैं और इसके अलावा भी कम बोलने के बहुत से फायदे होते हैं जो उन लोगों को पता होते हैं जैसे कि कम बोलने वाले लोग ज्यादा बोलने वाले लोगों की अपेक्षा अधिक सम्मानित होते हैं ,कम बोलने वाले लोग अच्छा बोलते हैं और महत्वपूर्ण चीज ही बोलते हैं ,कम बोलने वाले लोगों की एनर्जी ज्यादा बोलने वालों की अपेक्षा कम खर्च होती है जिसे वे अपने किसी दूसरे महत्वपूर्ण काम में लगा सकते हैं ।

18.दूसरों के ओपिनियन सुन सकते हैं देखिए आम इंसान के साथ ज्यादा समस्या यही होती है उसका अपनी भावनाओं पर नियंत्रण नहीं रहता है मान लीजिए अगर आपको पता हो कि अमुक व्यक्ति की बाते आपको मानसिक रूप से कष्ट पहुंचाती हैं या फिर वह ऐसी बातें करता है जिससे आपको गुस्सा आए अगर आप यह बात अच्छी तरह से जान जाए तो फिर तो आपको गुस्सा होने का सवाल ही नहीं उठता और साथ ही साथ आप यह भी जान जाए कि वह व्यक्ति आपको गुस्सा दिलाना चाहता है तो आप गुस्सा ना होकर उसकी भावनाओं पर पानी फेर सकते हैं लेकिन यह करना बहुत ही मुश्किल होता है और ज्यादातर इंसान ऐसा कभी नहीं कर पाते हैं लेकिन सफल आदमी हमेशा ऐसा ही करते हैं उन्हें चाहे कितना भी बुरा लग रहा हो कितना भी गुस्सा लग रहा है बे उसे बिल्कुल व्यक्त नहीं करते हैं और जिसकी वजह से वे उसका बहुत ज्यादा फायदा भी उठाते हैं।

19. लाइफ का गोल इन लोगों को समझ में आ चुका होता है हर किसी की जिंदगी का एक लक्ष्य होता है लाइफ का परपज होता है जरूरी नहीं है कि उस व्यक्ति को उस बात का या उस लक्ष्य का पता ही हो हमें उस लक्ष्य को ढूंढना होता है और कुछ लोगों को उनका लक्ष्य बहुत ही आसानी से मिल जाता है और कुछ लोगों को उनका लक्ष्य ढूंढने में थोड़ी सी कठिनाई होती है लेकिन अगर कोशिश करें तो हर किसी को उनका लक्ष्य मिल ही जाता है लेकिन अगर कोशिश करें तो नहीं तो ज्यादातर व्यक्ति ऐसे होते हैं कि वे अपनी पूरी जिंदगी ऐसे ही बिता देते हैं लक्ष्य हीन होकर उन्हें अपनी जिंदगी के लक्ष्य कभी पता ही नहीं चलता है तो महान लोगों एक सबसे बड़ी निशानी यह होती है कि उन्हें अपने जिंदगी का लक्ष्य का पता होता है उन्हें पता होता है कि उनका जन्म किस लिए हुआ है प्रकृति ने उन्हें इस पृथ्वी पर किस लिए भेजा है और उन्हें कहां जाना है जिसकी वजह से उनकी जिंदगी का विस्तरल हो जाती है और भी अपनी पूरी जिंदगी को अपने लक्ष्य में ही निराशा भर कर देते हैं और वैसे भी मैंने ऊपर आपको जितने पॉइंट्स बताए हैं वे सब आपको आपके लक्ष्य को पाने में ही सहायक होते हैं तो आपके मैचुअल होने की सबसे बड़ी निशानी यह है कि आपको आपके जिंदगी के लक्ष्य का पता चल चुका हो।

 धन्यवाद

No comments:

Powered by Blogger.