Amazing psychological facts about mind in Hindi.

 


दोस्तों आज की पोस्ट में मैं जिस बारे में बात करने जा रहा हूं उसके पीछे का मैं साइंटिफिक रीजन तो नहीं बताऊंगा और ना ही मुझे सारे फैक्ट के पीछे का साइंटिफिक रीजन पता है लेकिन हां एक बात जरूर कहूंगा कि यह सब बातें मेरी खुद की एक्सपीरियंस की हुई है और वास्तव में सच हैं तो चलिए शुरू करते हैं,

.क्या आपको पता है कि अगर आपके दिमाग में नेगेटिव थॉट्स आते हैं तो आप उन्हें एक कागज पर लिखकर अगर डस्टबिन में फेंक देते हो तो आपका दिमाग ठीक हो जाता है और बे नेगेटिव थॉट्स आपके दिमाग से निकल जाते हैं,

. क्या आपको पता है कि अगर आप कोई गोल अचीव करना चाहते हो और वह Goal आप किसी को बता देते हो तो वह गोल आप कभी अब अजीब नहीं कर सकते हो,

 तो आज की पोस्ट में मैं कुछ ऐसे ही साइक्लोजिकल फैक्ट्ज के बारे में बात करूंगा जिन्हें पढ़कर आपको नई जानकारी मिलेगी तो आज मैं आपको ऐसे 10 फैक्ट के बारे में जानकारी दूंगा तो चलिए शुरू करते हैं,

                          

                          fact no.1

 दोस्तों शायद यह बात आपने भी जरूर नोटिस की होगी और यह एक साइक्लोजिकल फैक्ट भी है अगर आप का रहन सहन अच्छा है और आप अच्छे खासे कपड़े पहनते हो तो आपका कॉन्फिडेंस अपने यहां भी बढ़ जाता है अगर आपके आसपास रहने वाले लोग अच्छे हैं तो इसका सीधा संबंध आपके दिमाग से होता है आप उतनी ही ज्यादा प्रोग्रेस करते हो तो यह बात आप ध्यान रखिएगा।

  

                        fact no.2

 दोस्तों क्या आपको पता है जब कभी आपका मूड खराब होता है या आप बेवजह बहुत अपने आप को परेशान महसूस कर रहे होते हो और आपको इसका कारण नहीं पता होता है तो इसका वास्तविक कारण यह होता है कि आप किसी को याद कर रहे हो और कई बार आपको पता नहीं होता है कि आपको किसकी याद आ रही है अमेजिंग फैक्ट है।

         

                          fact no.3 

दोस्तों अगर आपको एक से अधिक लैंग्वेज आती हैं तो यह फैक्ट आपके लिए है साइकोलॉजी के अनुसार जिन लोगों को अपनी मातृभाषा के अलावा दूसरी लैंग्वेज आती है तो वे लोग दूसरे लोगों की अपेक्षा अच्छी तरह से सोच समझकर निर्णय लेते हैं और उनके विचार अन्य लोगों की अपेक्षा ज्यादा प्रभावी होते हैं।


                        fact no.4

 दोस्तों क्या आपको पता है कि जो इंसान यह बोलते हैं कि मैं किसी की परवाह नहीं करता मुझे किसी बात से कोई फर्क नहीं पड़ता साइकोलॉजी के अनुसार वास्तव में ही वे लोग होते हैं जिन्हें सबसे ज्यादा फर्क पड़ता है और वह वास्तव में परवाह करते हैं तो अगर कोई आपसे बोलता है कि आई डोंट केयर या मुझे आपसे कोई मतलब नहीं है तो इसका मतलब यही हो सकता है कि उसे वास्तव में आप से बहुत मतलब है और वह आपकी बहुत केयर करता है।

  

                           fact no.5

 यह फैक्ट उन लोगों के लिए है जिन लोगों को बार-बार गुस्सा आता है और जरा सी बात पर गुस्सा आ जाता है तो उनके गुस्सा आने के पीछे वास्तविक रीजन यह होता है कि उनकी लाइफ में प्यार की कमी होती है उनकी जिंदगी में उन्हें कोई प्यार करने वाला नहीं होता है जिसकी वजह से उनका दिमाग बार बार गुस्सा आने वाला केमिकल ही रिलीज करता है और प्यार करने वाला केमिकल रिलीज नहीं करता है कमेंट में बताना आपको यह साइट जानकर कैसा लगा ।


                           fact no.6

यह फैक्ट जानकर आपको किसी का झूठ पकड़ने में मदद मिल सकती है दरअसल साइकोलॉजी कहती है कि जब कोई व्यक्ति झूठ बोलता है तो वह दाएं तरफ देखता है क्योंकि उस समय उसके सक्रिय दिमाग पर ज्यादा जोर पढ़ रहा होता है क्योंकि वह उस समय जो भी बात बोलता है उसे बना कर बोलना पड़ता है और अगर कोई व्यक्ति सच बोल रहा होता है तो वह बाए तरफ अपनी निगाहें कर लेता है क्योंकि उस समय वह अपने सबकॉन्शियस माइंड पर जोर डाल रहा होता है जिससे कि उसे पुरानी बातें याद आ जाए।



                        fact no.7

  दोस्तों क्या आपको पता है कि आपके पूरे दिन में दिमाग में बहुत सारे थॉट्स आते हैं और उन सारे थॉट्स में से 80 परसेंट थॉट्स नेगेटिव ही होते हैं और चाहे भले ही आप किसी भी अच्छी चीज के बारे में सोच रहे हो तब भी आपके दिमाग में नेगेटिव थॉट से ही आएंगे इन थर्ड सेमेस्टर से बचने का केवल एक ही तरीका होता है कि आप अपने आपको बिजी रखें आप अपने आप को जितना ज्यादा व्यस्त रखेंगे इन थॉट्स के आने के चांसेस उतने ज्यादा कम हो जाएंगे लगभग 40 पर्सेंट तक चांस कम हो जाते हैं ।

 

                           fact no.8

दोस्तों आप के आस पास ऐसे बहुत से इंसान आपने देखे होंगे या शायद आप भी उनमें से ही एक होंगे कि जो हमेशा दूसरों को खुश देखना चाहते हैं चाहे आपके दुश्मन ही क्यों ना हो आप यही चाहते हो कि वे भी आपसे खुश रहें तो ऐसे इंसान हमेशा और लंबे समय में बहुत ज्यादा दुखी रहते हैं आपको हर इंसान को उतनी ही इज्जत देनी चाहिए जिसका वह जितना हकदार हो किसी को जरूरत से ज्यादा इज्जत देने से आपको वापस परेशानी ही होगी और जरूरी तो नहीं है कि हर इंसान आपसे खुश हो हर किसी के दुश्मन होते हैं और हर इंसान किसी से खुश नहीं रह सकता ।


                       fact no.9

साइकोलॉजी के अनुसार अगर आपके दिमाग में नेगेटिव थॉट्स आते हैं और आप उनसे ज्यादा बहुत ज्यादा परेशान हैं तो उससे बचने का एक तरीका यह हो सकता है कि आप उन सारे थॉट्स को एक कागज पर लिखकर डस्टबिन में फेंक दो इससे आपको बहुत रिलीफ मिलेगी।


                        fact no.10

क्या आपको पता है कि लाइफ में सबसे ज्यादा टेंशन 18 से 35 साल तक की उम्र के लोगों को ही होती है और इसके पीछे रीजन भी होता है क्योंकि यही वह समय होता है जब आपको अपनी जिंदगी के सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण डिसीजन लेने होते हैं और इसी समय हमारी बॉडी में भी हारमोंस बदलते हैं यही वह समय होता है जिस समय हम पर समाज का बहुत ज्यादा प्रेशर होता है हमें अपनी लाइफ में कुछ अचीव करना होता है पढ़ाई लिखाई का प्रेशर होता है लड़की लड़के का प्रेशर भी इसी उम्र में होता है लेकिन कोई बात नहीं दोस्तों यह सब चलता रहता है हमें कभी किसी चीज का प्रेशर नहीं लेना चाहिए और हमेशा खुश रहना चाहिए।

 लास्ट में मैं आपको एक बोनस टिप देना चाहूगा।

                    

        Bonus tip

  यह कोई फैक्ट नहीं है बल्कि यह एक आदत है जो मेरे अनुसार हर इंसान में होनी चाहिए देखो दोस्तों अगर आपने मानव जन्म लिया है तो यह बात तो तय है कि आपके जीवन के हर कदम पर समस्याएं ही समस्याएं होंगी तो जो बात पहले से ही तय है उस पर निराश क्या होना।

तो अगर जब आपके जीवन में कभी भी कोई समस्या आए तो आपको कभी भी आश्चर्यचकित नहीं होना चाहिए और ना ही निराश होना चाहिए चाहे आप कितनी भी समस्याओं से घिरे हो आपको बस अपने मन में यही सोचना चाहिए की मुझे पहले से ही पता था यह कोई बड़ी बात नहीं है और हमेशा अपने चेहरे पर एक मुस्कुराहट रखनी चाहिए क्योंकि समस्याओं से बचने का वास्तव में कोई तरीका नहीं है क्योंकि आप एक समस्या से निकलेंगे तो दूसरी में फंस जाएंगे दूसरी से निकलेंगे तो तीसरी में फंस जाएंगे तो समस्याएं तो आती जाती रहती हैं आपको निराश होने की बिल्कुल जरूरत नहीं है बस खुलकर मौज में जिंदगी जीनी चाहिए और चेहरे पर हमेशा एक मर्द वाली मुस्कान रखनी चाहिए चाहे जिंदगी आपको कितनी ही ठोकरें क्यों ना मारे आपको दोबारा उठकर खड़े हो जाना चाहिए।

 धन्यवाद

2 comments:

  1. These are great facts and they are relatable, after knowing these facts will get helped every person a lot, especially i liked very much, doing a good job👍👍🙂

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thank you very much plz share to your friends

      Delete

Powered by Blogger.