इन चीजों के लिए कभी माफी नहीं मांगनी चाहिए




 कुछ लोगों की आदत ऐसी होती है कि मैं कभी अपनी गलती नहीं मानते हैं और किसी भी स्थिति में चाहे वह सरासर गलत हो माफी नहीं मांगते हैं और ऐसे लोग अक्सर झगड़ालू प्रवृत्ति के होते हैं और ऐसे लोगों के साथ कभी ना कोई भी इंसान ज्यादा लंबे समय तक नहीं रहना चाहता है और इनके रिश्ते इसीलिए अधिकतर बहुत ही परेशानी भरी  होते हैं लेकिन वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग ऐसे भी होते हैं कि वह हमेशा माफी मांगते रहते हैं मतलब कि आपको उस तरह का इंसान होना चाहिए जो जरूरत पड़ने पर या फिर खुद की गलती रिलाइज होने पर तो माफी मांगे तो वहां पर कोई समस्या नहीं होती है लेकिन धीरे-धीरे क्या होता है कि कभी-कभी कुछ लोग ऐसे होते हैं कि वे जरा सी कोई भी बात होने पर माफी मांगने लगते हैं यह लोग उन लोगों के समान बराबर की गलत होते हैं जो लोग किसी बात पर माफी नहीं मांगते हैं क्योंकि बात-बात पर माफी मांगना भी माफी न मांगने के समान ही गलत है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हमारे अंदर एक ऐसी आदत हो जाती है कि हमें लगता है कि चाहे कोई भी मौका हो हमेशा गलती हमारी ही है और इसके लिए कोई हमें पनिश भी करता है तो हम उसे आसानी से सह लेते हैं क्योंकि हम अंदर से बिल्कुल डरे हुए होते हैं तो आज की पोस्ट में मैं आपको कुछ ऐसी बातें बताऊंगा जिन मैं आपको किसी भी स्थिति में माफी नहीं मांगनी चाहिए मतलब कि मैं कुछ आपके सामने ऐसी स्थितियां रखूंगा जो अगर आपके सामने आ जाएं तो मैं आपको कभी माफी नहीं मांगी चाहिए तो चलिए शुरू करते हैं,

1.अपना ओपिनियन रखने पर अपना विचार रखने की अनुमति हर किसी को होती है चाहे वह विचार गलत हो या सही तो आप बेझिझक अपना प्रस्ताव रख सकते हैं किसी के भी सामने लेकिन आपके प्रस्ताव रखने से कुछ आपके विरोधी भी होते होंगे और कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें आप के प्रस्ताव से अगर कोई समस्या होती है तो वे तुरंत ही आपके प्रस्ताव में कोई ना कोई कमी निकालने लगते हैं और लोगों को अब के खिलाफ भड़काना शुरू कर देते हैं और आपको डरा कर या धमका कर चुप कराने की कोशिश करते हैं जिन लोगों में गलती होती है वह अपनी गलती स्वीकारते नहीं है और आप जरा सी कोई उनके बारे में गलती निकालने तो मैं तुरंत आपको धमका नहीं लगते हैं ऐसी स्थिति में आपको कभी माफी नहीं मांगनी चाहिए क्योंकि अपनी इज्जत बनाने के लिए और आत्मसम्मान बनाने के लिए आपको वास्तव में सही को सही और गलत को गलत बोलना आना चाहिए वह एक बात अलग है कि जब आप परिपक्व को हो जाते हैं और आपको अपनी गलती का एहसास हो जाता है कि आप गलत थे तो आप माफी मांग सकते हैं लेकिन आपको कभी भी डर में आकर गलती की माफी नहीं मांगनी चाहिए

2.टॉक्सिक लोगों को अवॉइड करना हमारी लाइफ में हर तरह के लोग आते हैं उसमें से कुछ लोग ऐसे होते हैं कि जो हमारी लाइफ को परेशानियों से भर देते हैं वह बहुत झगड़ालू प्रवृत्ति के होते हैं और बे हमें कभी भी निराशा के सिवा कुछ नहीं देते हैं उनके सामने आ जाते ही हमारे दिमाग एकदम से परेशानियों से भर जाता है तो अगर आप ऐसे लोगों को अवॉइड करते हैं उनसे बातचीत करना पसंद नहीं करते हैं या फिर उनसे दूरियां बनाकर रहते हैं तो उसमें कोई भी समस्या नहीं है कभी कभी ऐसा भी हो सकता है कि ऐसे लोगों से बात करने के लिए लोग आपको मजबूर कर सकते हैं या फिर भी लोग ही खुद ही इमोशनल रूप से आपको परेशान कर सकते हैं और आपको माफी मांगने के लिए मजबूर कर सकते हैं लेकिन अगर आपको अपने अंदर से मन में लग रहा है कि आप मानसिक रूप से बहुत ही शांत और खुश रहे रहे हैं तो आपको ऐसे लोगों से बिल्कुल भी बात नहीं करनी चाहिए ना कि ऐसे लोगों से माफी मांगने चाहिए।

3. खुद पर काम करने के लिए जो भी इंसान अपनी लाइफ में कंफर्टेबल हो जाता है और अपने ऊपर ध्यान देना बंद कर देता है और अपने जिंदगी के लक्ष्य को भूल जाता है वह यही चाहता है कि दूसरे इंसान भी कभी जिंदगी में आगे ना बढ़े और वह दूसरे लोगों को रोकता रहता है अगर आप भी अपनी जिंदगी में कुछ बड़ा करने जा रहे हैं अपने सपनों को हासिल करने के लिए कुछ ऐसा करने जा रहे हैं जो थोड़ा सा समाज के दायरे में फिट नहीं बैठता है,तो बहुत से लोग ऐसे होंगे जो आप के विरोध में आएंगे और आपको शुरू में थोड़ी सी समस्याएं भी आ सकती हैं लेकिन आपको इस स्थिति में कभी हार नहीं माननी चाहिए और अपने सपनों के लिए कभी भी माफी नहीं मांगनी चाहिए जो आपको सबसे ज्यादा सही लगी आपको हमेशा वही करना चाहिए चाहे दुनिया आप के खिलाफ हो और मैंने जिन लोगों की बात कि वे आपके रिश्तेदार भी हो सकते हैं आपके सगे संबंधी भी हो सकती हैं खास भी हो सकते हैं और आपके लिए बहुत ज्यादा सम्माननीय भी हो सकते हैं लेकिन आपको किसी भी स्थिति में झुकना नहीं है और ना ही इस केस में माफी मांगनी है।

 4.जरूरतमंद चीजों पर खुद के पैसों को खर्च करने के लिए अब अगर आपने अपनी जिंदगी में मेहनत की और आप अच्छा खासा कमाने लगे हैं तो आपकी जरूरत है सिर्फ आपको पता होती है और आपको पता होता है कौन सी चीज आपके लिए जरूरी है और फायदेमंद है तो आपको उस पर पैसा बेझिझक खर्च करना चाहिए समाज में कुछ ऐसे लोग होते हैं वे हमेशा आपको डिमोटिवेट ही करते रहेंगे और आपको ऐसी राय देकर कि उस चीज में पैसा फसाने का कोई मतलब नहीं है या फिर वह चीज आपकी बिल्कुल भी किसी काम की नहीं है तो ऐसे लोगों की राय बिल्कुल नहीं माननी चाहिए क्योंकि यह एक फैक्ट भी है कि अगर आपके पास अच्छा खासा पैसा आने लगा है या कोई भी परिवार जिसकी इनकम अच्छी खासी जेनरेट होने लगी है तो वह अपने आसपास के लोगों की भी मदद करना शुरू कर देता है और उसके आसपास का वातावरण भी अच्छा खासा ठीक ठाक रहता है तो आपको बिल्कुल भी अपने पैसे को खर्च करने के लिए दूसरे की राय लेने की जरूरत नहीं है. और अगर कोई ऐसी चीज के लिए टोके जो आपके लिए वैल्युएबल हो तो उसके लिए भी आपको उसी बात मानने की भी जरूरत नहीं है और ना ही माफी मांगने की जरूरत है क्योंकि अगर आपने मेहनत की है तो आप उसके इनाम के भी हकदार है।

5.ऐसी चीजें जो कंट्रोल से बाहर हो हर किसी की लाइफ में ज्यादातर या बहुत सी ऐसी चीज होती है जिसका उस पर कोई बस नहीं चलता है और फिर भी वह उन चीजों के लिए खुद को परेशान करता रहता है और खुद को उनका दोषी ठहराता रहता है और पूरी दुनिया भी इसी काम में लगी रहती है कि कि हमारा आत्मविश्वास गिराए और हम हमें हमारे मन के अंदर दोषी मानने पर मजबूर कर दे सब लोग इसी काम में लगे रहते हैं कि वे एक दूसरे को उनकी नजर में दोषी करार दे तो हमें इस चीज का ध्यान रखना होगा कि हमने किस काम को किया है या फिर हमने किस गलती को नहीं किया है या फिर हम किस काम को रोक सकते थे या किस काम को गलत होने से नहीं रोक सकते तो जिन चीजों पर हमारा बस नहीं चलता है तो हमें उनकी गलती के लिए माफी मांगने की भी जरूरत नहीं होती है क्योंकि वह गलती वास्तव में हमारीहोती ही नहीं है क्योंकि हम उसके लिए कुछ नहीं कर सकते थे हमारे पर इतना सामर्थ नहीं था कि हम उस काम को बिगड़ने से रोक लें इसलिए हमें ऐसी स्थिति में भी माफी नहीं मांगनी चाहिए।

 धन्यवाद

No comments:

Powered by Blogger.